Press "Enter" to skip to content

रायपुर पुलिस की स्ट्राइक नशे की सप्लाई पर। रेड मारी नागपुर, MP के रीवा और ओडिशा में, गांजे की तस्करी हेलमेट में छुपाकर/#छत्तीसगढ़

रायपुर

194 मामलों में रायपुर पुलिस ने 205 आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

छत्तीसगढ़ के गृह मंत्री विजय शर्मा के सूखे नशे पर कंट्रोल करने के निर्देश के बाद रायपुर पुलिस ऑपरेशनल मोड पर नजर आ रही है। नशे के छोटे तस्करों को गिरफ्तार करने के बाद अब पुलिस दूसरे राज्यों में बैठे बड़े सप्लायर्स पर नकेल कसने में जुटी है। रायपुर पुलिस ने महाराष्ट्र के नागपुर, मध्य प्रदेश के रीवा और ओडिशा के कुछ ठिकानों पर रेड मारी है।

इस छापेमारी की वजह पुलिस का नशे की सप्लाई चेन को तोड़ने की कोशिश है। एक वजह ये भी है कि पुलिस ने जनवरी में ही 68 से ज्यादा स्थानीय लोगों को नशे के सामान के साथ गिरफ्तार किया है। रायपुुर में तो तस्कर हेलमेट में गांजा छुपाकर सप्लाई करते भी पकड़े गए हैं। अवैध नशे के कारोबार पर लगाम लगाने के लिए रायपुर पुलिस अब दूसरे राज्यों की पुलिस से भी मदद ले रही है।

आबकारी एक्ट के 122 मामलों में 122 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

आबकारी एक्ट के 122 मामलों में 122 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

एंटी क्राइम यूनिट की स्पेशल टीम का एक्शन

नशे के मामलों में कार्रवाई के लिए एंटी क्राइम एंड सायबर यूनिट में एक अलग नारकोटिक्स सेल बनाई गई है। इस सेल के सदस्य, संबंधित थानों की टीम के साथ मिलकर नशेबाजों और सप्लायरों को पकड़ते हैं। ये स्पेशल टीम ज्यादातर कार्रवाई मुखबिर से मिले खुफिया इनपुट के आधार पर करती है। इस टीम की कमान सीधे SP और एडिशनल SP स्तर के अधिकारी के पास होती है।

नशे के बड़े सप्लायर टारगेट पर

जनवरी महीन में नारकोटिक्स सेल ने थानों की जॉइंट टीम के साथ मिलकर 53 मामलों में 72 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इनमें से 4 आरोपी महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश से दबोचे गए हैं। पुलिस ने दावा किया है कि अब उसके टारगेट पर नशे के सप्लाई नेटवर्क को ब्रेक करना है। जिससे नशे के बड़े सप्लायरों की गिरफ्तारी हो सके। ये एक्शन इसी रणनीति का एक हिस्सा है।

रायपुर पुलिस अब दूसरे राज्यों की पुलिस से भी मदद ले रही है।

रायपुर पुलिस अब दूसरे राज्यों की पुलिस से भी मदद ले रही है।

लोकल सप्लायर उगल रहे हैं राज

रायपुर के देवेन्द्र नगर और गंज थाना की टीम ने 2 अलग-अलग मामलों में प्रतिबंधित नशीली कोड़िन सिरप सप्लाई कर रहे मोहम्मद अहमद, डोमार उर्फ पिंटू, मोहम्मद साजिद खान, मोहम्मद वसीम मेमन, साजिद रजा और अभिजीत वाजपेयी को गिरफ्तार किया। पुलिस को इनके पास से 234 शीशी सिरप मिली है।

पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि उन्होंने नशे का सामान नागपुर से मंगवाया था। जिस पर नाकोटिक्स टीम ने नागपुर जाकर रेड मारी। इस एक्शन में 1 अंतर्राज्यीय तस्कर कमलेश उपाध्याय समेत 7 लोग गिरफ्तार हुए हैं। इनके कब्जे से कुल 2994 शीशी प्रतिबंधित सिरप और 4 दोपहिया गाड़ियां जब्त की गईं, जिनकी कुल कीमत करीब 8 लाख 7 हजार है।

गुढ़ियारी में पकड़े गए आरोपी ने मध्यप्रदेश तक पहुंचाया

रायपुर की गुढ़ियारी पुलिस ने नशीली टैबलेट बेचने वाले मोम्मद सलमान शाह को पकड़ा। वह मध्यप्रदेश के रीवा का रहने वाला है। आरोपी ने पूछताछ में टैबलेट रीवा के छोटी गोरभी स्थित मेडिकल स्टोर से लाना बताया। जहां पर रायपुर पुलिस ने रेड मारकर दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। उनके पास से 330 नग टैबलेट जब्त की गई।

आरोपी गाड़ी में 88 हेलमेट के बीच में गांजा फंसाकर सप्लाई कर रहे थे।

आरोपी गाड़ी में 88 हेलमेट के बीच में गांजा फंसाकर सप्लाई कर रहे थे।

हेलमेट के बीच फंसाया गांजा

गंज पुलिस ने गांजा तस्करों पर बड़ी कार्रवाई करते हुए उत्तरप्रदेश के मोनिश कुरैशी, साहिल खान और अमलेश्वर निवासी भोजराम साहू को गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से 21 लाख का गांजा पुलिस ने बरामद किया है। ये शातिर आरोपी गाड़ी में 88 हेलमेट के बीच में गांजा फंसाकर उसकी तस्करी कर रहे थे।

कार्रवाई में अब तक 122 आरोपी गिरफ्तार

रायपुर पुलिस ने अवैध शराब के खिलाफ एक्शन लेते हुए आबकारी एक्ट के 122 मामलों में 122 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के पास से करीब साढ़े 6 लाख लीटर शराब जब्त हुई है। वहीं, अन्य कार्रवाई में 1 लाख 40 हजार लीटर शराब मिली है। पुलिस ने दोनों एक्शन समेत अन्य 194 मामलों में 205 आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

More from Fast SamacharMore posts in Fast Samachar »
More from छत्तीशगढ़More posts in छत्तीशगढ़ »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: