Press "Enter" to skip to content

कागजों में सिमटी संबल योजना, पति की मौत के तीन साल बाद भी नहीं मिली राशि / Shivpuri News

शिवपुरी। कोलारस अनुविभग के रन्नाौद में सीएम शिवराज सिंह चौाहन की महत्वाकांक्षी संबल योजना का लाभ समाज के अंतिम छोर तक  नहीं पहुंच पा रहा है। रन्नाौद में निवास करने वाली प्रेम बाई जाटव पति के निधन हुए तीन साल हो गए। वह संबल योजना के तहत मिलने वाली दो लाख रुपये की राशि के लिए दर-दर भटक रही है, लेकिन मद नहीं मिल पा रही है। इससे संबंधित सभी कागज भी सरपंच और सचिव को दे दिए गए हैं, लेकिन अभी तक योजना का लाभ नहीं मिल रहा है। एक ओर मुख्यमंत्री संबल योजना का हर मंच से प्रचार कर रहे हैं, वहीं जमीनी स्तर पर अधिकारी योजना को पलीता लगाने में जुटे हुए हैं।

प्रेम बाई ने कहा कि कागज लेते समय सरपंच सचिव ने कहा था कि जल्द ही मदद की राशि मिल जाएगी, लेकिन तीन साल बाद भी राशि नही मिली है। वहीं जिम्मेदारों का कहना है कि अभी फंड नहीं है। फंड आएगा तब ही राशि मिल पाएगी। ऐसा ही एक अन्य मामला गुड्डी बाई जाटव का है। गुड्डी बाई के पिता चंद्रेश जाटव की मौत को भी दो साल बीत गए हैं, लेकिन अब तक संबल योजना की राशि नहीं मिली है। वह मजदूरी कर अपना घर चला रहा है। रन्नाौद कस्बे में ऐसे कुल सात केस हैं जिन्हें संबल की राशि अभी तक नहीं मिली है।

More from ShivpuriMore posts in Shivpuri »

Be First to Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: