Press "Enter" to skip to content

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की मां के जल्द स्वास्थ्य होने की कामना को लेकर हनुमान मंदिर पर
किया सुन्दर काण्ड का पाठ / Shivpuri News

शिवपुरी: केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की मां माधवी राजे सिंधिया का इलाज पिछले कई माह से दिल्ली के एम्स में जारी है। इस बीच उपचार के दौरान उनकी बेहद तबियत बिगड़ने की सूचना भी मिली थी। रातमाता माधवी राजे सिंधिया के जल्द स्वास्थ्य लाभ के लिए आज कोलारस के धर्मशाला हनुमान मंदिर पर भाजपाइयों के द्वारा सुंदरकांड के पाठ का आयोजन कराया गया। इस आयोजन में कोलारस विधानसभा क्षेत्र के कई भाजपा पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता सम्मलित हुए।

सुंदरकांड के पाठ का गायन गायक कलाकार महेश गुप्ता (पूर्व पार्षद नगर परिषद कोलारस), गोपाल जोशी, मोनू भार्गव द्वारा किया गया। पाठ का आयोजन बलवीर निबोरिया प्रदेश कार्य समिति  द्वारा किया गया था। इस आयोजन कोलारस जनपद अध्यक्ष भरत सिंह चौहान, मंडल अध्यक्ष शिखर धाकड़, भाजपा जिला उपाध्यक्ष विपिन खेमरिया, नगर पंचायत उपाध्यक्ष रोहित बंसल, पूर्व सांसद प्रतिनिधि श्रीराम गौड़, जिला पंचायत सदस्य अवधेश सिंह मथना,कोलारस मंडल महामंत्री राम सडेया,दीपक जैन’चंदू श्रीवास्तव धनपाल सिंह यादव, बल्ली ठेकेदार ,मुकेश चोबे, दीपक जैन, हेमंत गोयल, गजराज सिंह कुशवाहा, जसवंत पाल, दीपक रघुवंशी, गोलू चौबे, महावीर जैन, आयुष बिंदल, अभिषेक जैन, प्रदीप बैरागी, गुड्डा राव, देवेंद्र गर्ग, ओ पी भार्गव, पवन शिवहरे, भगवत शर्मा, कैलाश पांडे, आदि लोग उपस्थित रहे। जिनके द्वारा हनुमान जी के दरवार में राजमाता विजयाराजे सिंधिया के जल्द स्वस्थ होने की प्रार्थना की गई।

पिछले तीन माह से एम्स में जारी है उपचार –

उल्लेखनीय केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया भाजपा प्रत्याशी घोसित होने के बाद ही अपनी मां राजमाता माधवी राजे की तबियत खराब होने की बात लोगों को बताई। राजमाता माधवी राजे सिंधिया को सांस लेने में तकलीफ होने के बाद 15 फरवरी को दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया था। तबसे लेकर अब तक उनकी हालात नाजुक बनी हुई है। उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया है। राजमाता माधवी राजे सिंधिया की हालात ख़राब होने के चलते उनकी बहू महारानी प्रिदर्शनी राजे सिंधिया और महाआर्यमन सिंधिया को चुनावी केम्पेन को छोड़ कर जाना पड़ा था। सिंधिया खुद 5 अप्रेल को दिल्ली रवाना हुए थे इसके बाद वह 6 मई रात बापस शिवपुरी पहुंचे थे और सात मई का चुनाव कराने के बाद उसी शाम बापस दिल्ली रवाना हो गए थे।

More from Fast SamacharMore posts in Fast Samachar »
More from ShivpuriMore posts in Shivpuri »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: