Press "Enter" to skip to content

बोर्ड परीक्षा: प्रश्रपत्र की गोपनीयता बनाए रखने रखी जाएगी साइबर ट्रेकिंग से निगरानी / Shivpuri News

68 केन्द्रों पर कलेक्टर प्रतिनिधि के मोबाइल पर ऐप से ट्रेकिंग, थाने से प्रश्रपत्र लेने से लेकर केन्द्र तक पहुंचने के हर पल की मिलेगी जानकारी
शिवपुरी। माध्यमिक शिक्षा मण्डल द्वारा आयोजित बोर्ड परीक्षाएं 5 फरवरी से शुरू होने जा रही हैं। प्रश्रपत्रों की गोपनीयता और सुरक्षा के लिए इस बार शिक्षा विभाग साइबर ट्रेकिंग का सहारा लेने जा रहा है। प्रत्येक परीक्षा दिवस पर थाने से प्रश्नपत्र निकालने से लेकर संबंधित परीक्षा केन्द्र तक केन्द्राध्यक्ष व सहायक केन्द्राध्यक्ष के साथ प्रश्रपत्रों को सुरक्षित पहुंचाने के लिए विभिन्न विभागों के अधिकारियों को कलेक्टर प्रतिनिधि के रूप में 68 केन्द्रों पर नियुक्त किया गया है। इस पूरी कवायद की ट्रेकिंग मोबाइल ऐप के माध्यम से की जाएगी। कलेक्टर प्रतिनिधियों की नियुक्ति भी माध्यमिक शिक्षा मण्डल के माध्यम से कर दी गई है तथा उनके निर्धारित मोबाइल नंबर से ट्रेकिंग ऐप को इंस्टॉल भी किया जा चुका है। ऐसे में इस बार प्रश्रपत्रों की गोपनीयता को लेकर साइबर ट्रेकिंग की सहायता कारगर साबित होगी।

इस तरह होगी ट्रेकिंग
जिले में 68 परीक्षा केन्द्रों पर तहसीलदार, नायब तहसीलदार, नगरपालिका सीएमओ, महिला बाल विकास के परियोजना अधिकारी, बीईओ, बीआरसीसी सहित अन्य कार्यालय प्रमुख अधिकारियों को कलेक्टर प्रतिनिधि के रूप में नियुक्त कर उनके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर मोबाइल ऐप इंस्टाल कर दिया गया है और इन सभी प्रतिनिधियों ने ऐप पर लॉग इन कर संबंधित पुलिस थाने का नाम, पता, सेल्फी के बैकग्राउण्ड में स्पष्ट नजर आते हुए अपलोड भी कर दिए हैं अब 5 फरवरी से ये प्रतिनिधि परीक्षा वाले दिन जब निर्धारित परीक्षा केन्द्र पर पहुंचेंगे तो वहां पुन: इसी तरह की सेल्फी लेकर अपलोड करेंगे और इसके बाद प्रदेश, संभाग व जिला स्तर पर बनाए गए कंट्रोल रूम के जरिए थाने से स्कूल तक प्रश्रपत्र पहुंचने का समय ट्रेक किया जा सकेगा।

रास्ते में रुके तो ऐप देेगा खबर
मोबाइल ऐप से ट्रेकिंग की इस व्यवस्था के लिए जो निर्देश दिए गए हैं। उसके अनुसार ऐप थाने पर सीएस, एसीएस व कलेक्टर प्रतिनिधि के उपस्थित होने की तिथि ,समय व स्थान तो बताएगा ही, साथ ही थाने से केन्द्र तक पहुंचने की वास्तविक अवधि भी इसके जरिए हासिल होगी। यदि कोई कलेक्टर प्रतिनिधि उक्त अवधि में कहीं रुकता है तो उसकी भी जानकारी ऐप के माध्यम से ट्रेक हो जाएगी। थाने पर सेल्फी अपलोड होने के बाद ही प्रश्रपत्रों का बॉक्स निकालने की कार्यवाही संपन्न हो सकेगी और केन्द्र पर पहुंचने के बाद कलेक्टर प्रतिनिधि एक और सेल्फी अपलोड करेगा जिसमें परीक्षा केन्द्र का नाम व पता दिखाई दे। केन्द्र से प्रश्रपत्र निकालने की कार्यवाही, जहां सुबह 6 बजे पहुंचकर की जानी है तो वहीं केन्द्र पर 8.30 बजे प्रश्रपत्र के बॉक्स खोले जाने की कार्यवाही होगी। इसके बाद मोबाइल ऐप पर प्रश्रपत्र के पैकिट की संख्या विषयवार दर्जित करना होगा व 8.45 बजे के पूर्व प्रश्रपत्र का पैकिट पर्यवेक्षकों को उपलब्ध नहीं कराया जाएगा। यह नियुक्त प्रतिनिधि 10 बजे तक केन्द्र पर रहकर निगरानी रखेंगे। उसके बाद ही लॉगआउट कर सकेंगे। यही प्रक्रिया हर पेपर के दौरान किए जाने के निर्देश दिए गए हैं।

अंचल के 54 केन्द्रों को प्रश्रपत्र वितरित
उधर गुरूवार से बोर्ड परीक्षा के लिए प्रश्रपत्र व उत्तर पुस्तिकाओं के परीक्षा केन्द्रवार वितरण की प्रक्रिया शुरू हो गई है। पहले दिन अंचल के 54 परीक्षा केन्द्रों के लिए विशेष सुरक्षा के बीच जिला शिक्षा अधिकारी समर सिंह राठौड़ व जिला परीक्षा प्रभारी वत्सराज सिंह राठौड़ की मौजूदगी में प्रश्रपत्रों का वितरण किया गया। खासबत यह रही है कि इस बार वितरण केन्द्र पर पहुंचने के बाद ही बंद लिफाफे बोर्ड द्वारा नियुक्त सीएस व एसीएस को प्राप्त हुए जिसमें उनकी किस केन्द्र पर तैनाती है इसका हवाला था। शुक्रवार को शहर के 14 परीक्षा केन्द्रों के लिए प्रश्रपत्र व अगोपनीय सामग्री का वितरण किया जाएगा।

इनका कहना है
इस बार माध्यमिक शिक्षा मण्डल द्वारा प्रश्रपत्रों की गोपनीयता व सुरक्षा के लिए प्रत्येक केन्द्र पर कलेक्टर प्रतिनिधि की नियुक्ति तो की ही गई है, साथ ही गोपनीय सामग्री परीक्षा केन्द्र तक ले जाने की कार्यवाही की ट्रेकिंग मोबाइल ऐप के माध्यम से भी की जाएगी। इसके लिए सभी नियुक्त कलेक्टर प्रतिनिधियों के मोबाइल में उक्त ऐप को इंस्टाल कर दिया गया है।
समरसिंह राठौड़
जिला शिक्षा अधिकारी शिवपुरी

More from Fast SamacharMore posts in Fast Samachar »
More from ShivpuriMore posts in Shivpuri »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: