Press "Enter" to skip to content

कमलनाथ बोले- बजट नही यह सिर्फ एक झुनझुना है: विन्त मंत्री बोले- विकसित भारत की झलक इसमें , फाइनल बजट MP का जुलाई तक /#मध्यप्रदेश न्यूज़

भोपाल

मप्र के उप मुख्यमंत्री जगदीश देवड़ा ने टीवी पर पूरा बजट भाषण लाइव देखा।

संसद में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आम चुनाव के पहले मोदी सरकार का अंतरिम बजट पेश किया। इस बजट में पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान द्वारा मप्र में महिलाओं को ‘लखपति बहना’ बनाने की घोषणा की झलक दिखी। मप्र के उप मुख्यमंत्री जगदीश देवड़ा ने टीवी पर पूरा बजट भाषण लाइव देखा। कमलनाथ ने कहा- यह बजट नहीं, सिर्फ एक झुनझुना है।

मप्र के वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा ने केंद्र सरकार के अंतरिम बजट पर कहा- प्रधानमंत्री ने 2027 तक का लक्ष्य रखा है। गरीब, महिला, युवाओं पर फोकस किया है। गांव, गरीब के साथ सभी वर्गों के ध्यान रखा गया है। मध्यप्रदेश की सरकार इस सत्र में दूसरा अनुपूरक बजट और लेखानुदान प्रस्तुत करेगी। एमपी का फाइनल बजट जुलाई तक आएगा। जो बजट आया है मध्य प्रदेश को भी उसका लाभ मिलेगा, बजट स्वागत योग है। 2047 तक हिंदुस्तान को विकसित भारत के लक्ष्य के साथ नंबर वन बनाना है, ये बजट उसका उदाहरण है।

मुख्यमंत्री मोहन यादव ने कहा, “प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में देश को आगे बढ़ाने का प्रयास सभी विभाग कर रहे हैं। आज अंतरिम बजट पेश किया गया। गरीब, महिला, युवा, किसान पर ये बजट केंद्रित रहा। आने वाले समय में भारत विश्व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की दिशा में आगे बढ़ रहा है।”

MP से जुड़े प्रोजेक्ट्स

  • केन-बेतवा लिंक परियोजना के क्रियान्वयन के लिए 1400 करोड़ परिव्यय। केन-बेतवा लिंक परियोजना से किसानों की 9.08 लाख हेक्टेयर जमीनों को सिंचाई की सुविधा मिलेगी। बता दें कि इस परियोजना से सबसे ज्यादा फायदा बुंदेलखंड क्षेत्र को होगा। जिसमें मध्यप्रदेश और उत्तरप्रदेश के 13 जिले आते हैं। इनमें मध्यप्रदेश के 9 जिले पन्ना, टीकमगढ़, छतरपुर, सागर, दमोह, दतिया, विदिशा, शिवपुरी और रायसेन आते हैं, वहीं उत्तरप्रदेश के बांदा, महोबा, झांसी और ललितपुर जिले हैं।
  • रत्‍न व आभूषण क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए तराशे एवं पॉलिश किए गए हीरों और रत्‍न पत्‍थरों पर सीमा शुल्‍क घटाकर 5 प्रतिशत किया गया है। केवल तराशे गए हीरे पर कुछ भी सीमा शुल्‍क नहीं लगेगा।
  • ई-कॉमर्स के जरिए आभषूण निर्यात को सुविधाजनक बनाने के लिए एक सरल नियामकीय रूपरेखा इस वर्ष जून तक लागू की जाएगी।
  • कम मूल्‍य वाले इमिटेशन आभूषण के आयात पर प्रति किलो कम से कम 400 रुपए का सीमा शुल्‍क लगाया जाएगा। बता दें कि मप्र के पन्ना में बडे़ पैमाने पर हीरा निकलता है।

बजट को लेकर किसने क्या कहा…

बजट रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म की ओर: सिंधिया

बड़ा हुआ तो क्या हुआ जैसे पेड़ खजूर…: कमलनाथ

केन्द्रीय बजट पर MP के पूर्व सीएम कमलनाथ का ट़्वीट’ बड़ा हुआ तो क्या हुआ जैसे पेड़ खजूर। पंछी को छाया नहीं फल लागे अति दूर।’ मोदी सरकार के आज पेश किए गए अंतरिम बजट की स्थिति कुछ ऐसी ही है। हमें आशा थी कि चुनाव से पूर्व के इस बजट में वित्त मंत्री बताएंगी कि प्रधानमंत्री ने जो हर वर्ष 2 करोड़ रोजगार देने का वादा किया था, उस हिसाब से 20 करोड़ रोजगार देने का टारगेट कहीं पहुंचा भी या नहीं?। मध्यमवर्ग को आशा थी कि सरकार इनकम टैक्स स्लैब में कोई छूट देगी लेकिन एक बार फिर से अपना जन विरोधी चेहरा सामने लाते हुए मोदी सरकार ने आयकर में कोई छूट नहीं दी। मोदी सरकार ने वादा किया था कि 2022 में किसानों की आमदनी दोगुनी कर दी जाएगी लेकिन आज 2024 के बजट में भी किसानों के पक्ष में एक ढंग की बात भी सरकार नहीं बोल सकी। बजट में युवाओं, महिलाओं, बेरोजगारों, किसानों और जवानों के लिए कुछ भी नहीं है। सरकार ने देश के आर्थिक विकास का कोई खाका पेश नहीं किया है और जो बातें कही हैं, वह 15 और 20 साल दूर की बातें हैं। यह बजट नहीं है, सिर्फ एक झुनझुना है।

​​​​​​जीतू पटवारी बोले- बजट में 2024 के सबसे बड़े झूठ

  • 80 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज देने वाली केंद्र सरकार दावा कर रही है कि 25 करोड़ लोगों को गरीबी से बाहर निकाला। यह भाजपा का वर्ष 2024 में बोला गया सबसे बड़ा “आर्थिक झूठ” है, क्योंकि भाजपा के सरकारी कागजों में गरीब की उपस्थिति अलग तरह से दिखाई और दर्शायी जा रही है।
  • मेरे मध्यप्रदेश में ही “लाड़ली बहना योजना” में 3000 रुपए प्रतिमाह के वादे से मुकरने वाली @BJP4MP यदि करीब एक करोड़ महिलाओं को लखपति दीदी बनाने का दावा कर रही है, तो इसे भी मैं वर्ष 2024 में बोला गया सबसे बड़ा “सामाजिक झूठ” कहूंगा।
  • पिछले 45 सालों में देश में सबसे अधिक बेरोजगारी है, लेकिन झूठ के पांवों पर दौड़ने वाली @BJP4India सरकार का दावा है कि 54 लाख युवाओं को प्रशिक्षित किया गया है। हर साल 2 करोड़ नौकरी के झूठ को देश को युवा पहचानता है। इसे भी मैं सबसे बड़ा “राजनीतिक झूठ” कहूंगा।
  • गरीबी में फंसा, महंगाई से लड़ता, कर्ज में डूबा किसान जानता है कि आय तो दोगुनी नहीं हुई, लागत जरूर चार गुना बढ़ गई है. लेकिन फिर केंद्रीय वित्त मंत्री की बजट-बुक कह रही हैं कि पीएम किसान योजना से 11.8 करोड़ लोगों को आर्थिक मदद मिली है। इसे भी मैं सबसे बड़ा “नैतिक झूठ” कहूंगा।

पूर्व सीएम शिवराज सिंह ने क्या कहा था

पूर्व सीएम शिवराज सिंह ने कहा था- मैं लखपति बहना योजना बनाऊंगा। हर बहना को लखपति बनाना है। समूह की हर बहन दस हजार रुपए महीना कमाए और साल में एक लाख रुपए से ज्यादा मिले इसकी व्यवस्था करूंगा।

More from BhopalMore posts in Bhopal »
More from Fast SamacharMore posts in Fast Samachar »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: