Press "Enter" to skip to content

चुनाव नहीं लड़ेंगे जीतू पटवारी और उमंग सिंघार: दिग्विजय सिंह राजगढ़ से और अरुण यादव गुना से हो सकते है प्रत्याशी /मध्यप्रदेश

भोपाल

कांग्रेस सीईसी की बैठक में पार्टी अध्यक्ष खड़गे, पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी महासचिव केसी वेणुगोपाल मौजूद रहे।

मध्यप्रदेश में लोकसभा की बाकी बची 18 सीटों को लेकर दिल्ली में कांग्रेस की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में चर्चा हुई। सूत्रों ने बताया कि बैठक में ये तय हुआ कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी और नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार चुनाव नहीं लड़ेंगे।

सूत्रों के हवाले से ये भी खबर है कि राजगढ़ से दिग्विजय सिंह चुनाव लड़ सकते हैं। वहीं, गुना से सिंधिया के खिलाफ पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव को प्रत्याशी बनाया जा सकता है। इंदौर से अक्षय कांती बम का नाम तय होने की भी खबर है। रतलाम सीट से कांतिलाल भूरिया चुनावी मैदान में उतर सकते हैं। हालांकि, कांग्रेस ने अभी किसी भी नाम का ऐलान नहीं किया है।

बता दें कि मध्यप्रदेश में 19 अप्रैल को लोकसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान होगा। पहले राउंड में 6 लोकसभा सीट सीधी, शहडोल, मंडला, जबलपुर, बालाघाट और छिंदवाड़ा पर मतदान होना है। इनमें से कांग्रेस छिंदवाड़ा, सीधी और मंडला सीट पर अपने प्रत्याशी उतार चुकी है।

अब तक प्रदेश की 29 में से 10 सीटों पर ही कांग्रेस के उम्मीदवार घोषित हो पाए हैं।

दिल्ली में गुरुवार को कांग्रेस की सीईसी की बैठक में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी, नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार, प्रदेश कांग्रेस प्रभारी भंवर जितेंद्र सिंह शामिल हुए।

दिल्ली में गुरुवार को कांग्रेस की सीईसी की बैठक में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी, नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार, प्रदेश कांग्रेस प्रभारी भंवर जितेंद्र सिंह शामिल हुए।

जीतू पटवारी ने दिए संकेत, बड़े नेता लड़ेंगे चुनाव
बैठक के बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी ने कहा- सब बड़े नेता जो जीतने की संभावना रखते हैं वो सब लड़ेंगे। पार्टी ने जो निर्णय लिया है वो सबको मान्य होगा। प्रदेश कांग्रेस प्रभारी भंवर जितेंद्र सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश की सभी सीटों पर चर्चा हो चुकी है। जल्द ही नाम घोषित कर दिए जाएंगे।

जीतू पटवारी का चुनाव लड़ने से इनकार
सूत्र बताते हैं कि पीसीसी चीफ जीतू पटवारी ने पूरे प्रदेश में प्रचार और पार्टी के कामकाज की व्यस्तता का हवाला देते हुए लोकसभा चुनाव लड़ने में असहमति जताई। इसके बाद ये तय हुआ कि पीसीसी चीफ जीतू पटवारी और नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार लोकसभा का चुनाव नहीं लड़ेंगे।

जबलपुर में दिनेश का नाम लगभग तय
सूत्रों के अनुसार जबलपुर लोकसभा सीट से दिनेश यादव का नाम लगभग तय हो गया है। होशंगाबाद सीट से पूर्व विधायक संजय शर्मा का नाम भी फाइनल हो गया है। मंदसौर में दिलीप सिंह गुर्जर को उम्मीदवार बनाया जा सकता है। भोपाल से अरुण श्रीवास्तव, रीवा से नीलम अभय मिश्रा, शहडोल से फुन्देलाल सिंह मार्को, सागर से चंद्रभूषण सिंह गुड्डू राजा का नाम तय माना जा रहा है।

इन सीटों पर सिंगल नाम लगभग तय

सीटसंभावित नाम
उज्जैनमहेश परमार
मंदसौरदिलीप सिंह गुर्जर
भोपालअरुण श्रीवास्तव
होशंगाबादसंजय शर्मा
झाबुआकांतिलाल भूरिया
जबलपुरदिनेश यादव
रीवानीलम अभय मिश्रा
शहडोलफुंदेलाल सिंह मार्को
सागरगुड्‌डू राजा बुंदेला

इन सीटों पर फंसा पेंच

विदिशा – सीएम शिवराज सिंह चौहान के सामने विदिशा सीट पर पहले सिलवानी विधायक के नाम की चर्चा थी, लेकिन पूर्व सांसद प्रतापभानु के नाम पर सीईसी में चर्चा हुई। फिर विदिशा सीट से प्रतापभानु शर्मा और रिटायर्ड विंग कमांडर अनुमा आचार्य का नाम शामिल किया गया है।

ग्वालियर – ग्वालियर सीट पर कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष स्वर्गीय दर्शन सिंह के बेटे मितेन्द्र का नाम पैनल में जोड़ा गया है। मितेन्द्र के साथ ही पूर्व विधायक नीटू सिकरवार और प्रवीण पाठक में से किसी एक के नाम को आलाकमान फाइनल करेगा।

मुरैना – मुरैना सीट पर जौरा विधायक पंकज उपाध्याय पीसीसी चीफ जीतू पटवारी की पसंद हैं। वहीं पार्टी में कई नेता नीटू सिकरवार या अन्य ओबीसी नेता को उतारने की बात कह रहे हैं। अब इस पर आलाकमान को अंतिम निर्णय लेना है। इसके अलावा दमोह, बालाघाट में भी सहमति नहीं बन पाई है।

खजुराहो – ये सीट कांग्रेस ने सपा के लिए छोड़ी है।

More from BhopalMore posts in Bhopal »
More from Fast SamacharMore posts in Fast Samachar »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: