Press "Enter" to skip to content

12 फीसदी ज्यादा पैसा मिलेगा बजट से राजस्थान को: 73 हजार 504 करोड़ मिलेंगे केंद्रीय करों के हिस्से से, ब्याज-मुक्त कर्ज पर्यटन विकास के लिए / #राजस्थान न्यूज़

जयपुर

मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने ओटीएस स्थित निवास पर बजट भाषण सुना।

केंद्र सरकार के अंतरिम बजट में राजस्थान के लिए कोई नई स्कीम नहीं आई है। अंतिरम बजट के अनुसार केंद्रीय करों में हिस्सेदारी के रूप में राजस्थान को इस बार ज्यादा पैसा मिलेगा। वहीं, राजस्थान के पर्यटन विकास और ब्रांडिंग के लिए राजस्थान को ब्याज मुक्त कर्ज मिलेगा।

भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सीपी जोशी ने इसे गरीब, युवा और महिलाओं को बजट बताया है, वहीं वहीं कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने कहा कि बजट में ऐसा कुछ निकल कर नहीं आया है, जिससे जनता को कोई उम्मीद जागे।

केंद्रीय करो में 12 फीसदी ज्यादा पैसा मिलेगा
राजस्थान को इस बार केंद्रीय करों में हिस्से से 73 हजार 504 करोड़ रुपए मिलेंगे। पिछले वित्त वर्ष में केंद्रीय करों से 65 हजार 556 करोड़ रुपए मिले थे। इस बार राजस्थान को पिछली बार की तुलना में 7948 करोड़ रुपए ज्यादा मिलेंगे। जो 12.12 फीसदी ज्यादा है।

रेलवे के लिए राजस्थान को 9782 करोड़ मिलेंगे
रेलवे के कामों के लिए राजस्थान को 2024-25 के लिए 9782 करोड़ रुपए का बजट मिलेगा। इसमें 85 स्टेशनों के अपग्रेडेशन और मॉर्डनाइजेशन के काम होंगे। रेलवे लाइनों के इलेक्ट्रिफिकेशन का काम लगभग पूरा हो चुका है। स्टेशनों के मॉर्डनाइजेशन के प्रोजेक्ट भी चल रहे हैं। नई ट्रेनों और नए कामों की घोषणा इस बजट में नहीं की गई है।

पर्यटन स्थलों के लिए ब्याज मुक्त कर्ज
अंतरिम बजट में पर्यटन स्थलों के विकास के लिए ब्याज मुक्त कर्ज देने की घोषणा की गई है। राजस्थान के पर्यटन स्थलों के विकास के लिए केंद्र सरकार बिना ब्याज का कर्ज देगी। राजस्थान को इससे बड़ा फायदा मिलेगा। राजधानी जयपुर सहित जोधपुर, जैसलमेर, बीकानेर, उदयपुर, भरतपुर, चित्तौड़गढ़, राजसमंद सहित प्रदेश के कई क्षेत्रों में पर्यटन स्थलों के विकास के लिए फंड उपलब्ध होगा।

पर्यटन की ब्रांडिंग-मार्केटिंग के लिए लॉन्ग टर्म कर्ज
राजस्थान में पर्यटन एक बड़ा सेक्टर है और दुनिया में यहां के पर्यटन स्थलों का नाम है। राज्यों को आईकॉनिक टूरिस्ट सेंटर डवलप करने और वैश्विक स्तर पर उनकी ब्रॉडिंग और मार्केटिंग करने के लिए लॉन्ग टर्म कर्ज मिल सकेगा।

टूरिज्म-डिप्लोमेसी का बड़ा हब बन सकता है राजस्थान
पर्यटन स्थलों के विकास, उनकी मार्केंटिंग ब्रांडिंग से राजस्थान दुनिया भर में भारत के लिए टूरिज्म-डिप्लोमेसी का हब बन सकता है। दुनिया भर के टूरिस्ट और राष्ट्राध्यक्षों के लगातार राजस्थान के पर्यटन स्थलों का दौरा करने से यह पर्सेप्शन बन सकता है।
25 जनवरी को राजधानी जयपुर के प्रमुख पर्यटन स्थलों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने रोड शो किया था। अंतरिम बजट में पर्यटन स्थलों के विकास के लिए ब्याज मुक्त कर्ज देने की घोषणा को इस दौरे से जोड़कर देखा जा रहा है।

बजट पर किसने, क्या कहा…

अंतरिम बजट vs पूर्ण बजट

More from Fast SamacharMore posts in Fast Samachar »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: