Press "Enter" to skip to content

शिक्षा मंत्री राव उदय प्रताप का पेपर लीक पर बड़ा दावा। ‘2024 परीक्षा पर चर्चा’ , कार्यक्रम मे बोले- पेपर आउट नही होने देंगे , कानून भी बनेगा /#मध्यप्रदेश

भोपाल

स्कूल शिक्षा मंत्री राव उदय प्रताप।

भोपाल के एक्सीलेंस स्कूल में ‘परीक्षा पे चर्चा 2024’ कार्यक्रम मे स्कूल शिक्षा मंत्री राव उदय प्रताप ने एक बड़ा दावा किया है। उन्होंने कहा, आगामी परीक्षाओं में एक भी पेपर आउट(लीक) नहीं होगा। पेपर लीक न हो इसके लिए एक सिस्टम डेवलप किया गया है। अगले सत्र से एक सख्त कानून भी लागू किया जाएगा।

अगले महीने से शुरू होने वाली परिक्षाओं और पेपर लीक होने के सवाल पर उन्होंने कहा, बच्चों को किसी भी तरह से सोशल मीडिया पर इस प्रकार की प्रैक्टिस में इंवाल्व नहीं होना चाहिए। इससे उनका खुद का नुकसान होगा। इतना ही नहीं वे आपराधिक गतिविधि के भागीदार भी होंगे। नया सिस्टम हम लेकर आने वाले हैं उसमें पेपर लीक नहीं हो सकता। पेपर लीक से संबंधित भविष्य में कानून बनाने जा रहे हैं। इसे हम विधानसभा के कालीन सत्र में लेकर आएंगे।

सिस्टम का लीकेज भी देखेंग

उन्होंने कहा, हमारे खुद के सिस्टम में अगर कोई लीकेज है तो वह भी कानून के दायरे में आएगा। हम स्वभाविक रूप से सख्ती से पालन करेंगे और पारदर्शी तरीके से सिस्टम को चलाएंगे। जहां आवश्यक होगा वहां हम वीडियोग्राफी भी करवाएंगे, इसके अलावा हम मॉनिटरिंग सिस्टम की स्ट्रेंथ भी बढ़ाने का काम कर रहे हैं।

शिक्षा मंत्री ने कहा- बच्चों और अभिभावकों की सोच में परिवर्तन
इससे पहले कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री का ये परीक्षा पे चर्चा कार्यक्रम को करोड़ों बच्चे देखते और सुनते हैं। इसके सकारात्मक परिणाम आए हैं। कार्यक्रम को सात साल हो गए हैं। परिणाम में देखने मिला है कि बच्चों और अभिभावकों की सोच में परिवर्तन आया है। अब अभिभावकों की भी कोशिश रहती है कि बच्चों को परीक्षा और पढ़ाई का तनाव नहीं हो। बच्चों को माता-पिता और टीचर का अनुभव का लाभ मिल रहा है। माता-पिता और शिक्षक ही बच्चों को सही सलाह दे सकते हैं। शिक्षा मंत्री ने कहा कि परीक्षा के दौरान थोड़ा तनाव होना स्वाभाविक है। लेकिन, अगर इस दौरान हम थोड़ा रिलेक्स हो जाएं तो बेहतर हो सकता है।

बच्चों को मिले तनाव मुक्त वातावरण

उन्होंने कहा, हम बच्चों में तनाव मुक्त वातावरण के लिए काम कर रहे हैं। इससे बच्चों को अच्छे वातावरण में परीक्षा देने का मौका मिले, बच्चे बगैर व्यवधान के इस अवसर का लाभ ले सकें, यही हमारी तैयारी है। स्वभाविक रूप से बच्चों को तनाव से दूर रखने के लिए हम तैयारी भी कर रहे हैं और इसका सजगता से क्रियान्वयन भी करेंगे। इसके अलावा उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा बताई गई बातें और उनके अनुभव से बच्चों को ही नहीं बल्कि हम सभी को सीख लेनी चाहिए।

भोपाल के सुभाष एक्सीलेंस कार्यक्रम में शिक्षा मंत्री उदयप्रताप सिंह मौजूद रहे।

भोपाल के सुभाष एक्सीलेंस कार्यक्रम में शिक्षा मंत्री उदयप्रताप सिंह मौजूद रहे।

3000 छात्र-छात्राओं ने लिया भाग

दिल्ली में हुए कार्यक्रम में सुभाष स्कूल की टीचर योगिता नायक और 11वी की छात्रा वंशिता माहेश्वरी और कक्षा 11 के तीर्थ सोनी का सिलेक्शन हुआ था । कुल 3000 स्टूडेंट्स शामिल हुए। इसके अलावा देश के 100 एकलव्य मॉडल रेजिडेंशियल स्कूलों (EMRS) के बच्चे भी इवेंट में शामिल हुए।

सातवीं बार परीक्षा पर चर्चा

बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी का छात्रों संग यह सातवीं बार परीक्षा पर चर्चा कार्यक्रम है। साल 2018 से ही लगातार पीएम इस कार्यक्रर्य के तहत छात्रों, अभिभावकों और पेरेंट्स से जुड़ते रहे हैं। इस कार्यक्रम की सफलता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि हर साल इस कार्यक्रर्य के लिए रजिस्ट्रेशन कराने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।

More from BhopalMore posts in Bhopal »
More from Fast SamacharMore posts in Fast Samachar »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: